मत

विश्लेषण

श्रेणी: मनोरंजन

जॉन अब्राहम अभिनीत फिल्म ‘परमाणु ‘ की सबसे ईमानदार समीक्षा ये रही

परदे पर इतिहास को उतारना कभी आसान नहीं रहा है खासकर जब बॉलीवुड के परदे पर उतारने की बात हो तब ये और कठिन नजर आता है क्योंकि यहां वास्तिवकता से ज्यादा अपने एजेंडे को पूरा करने पर जोर दिया जाता है। बेतुका कांसेप्ट, अनौपचारिक चित्रण, और जो लोग इसके लायक नहीं हैं। ऐसे कलाकारों […]

राज़ी फ़िल्म की सटीक समीक्षा: एक ऐसी फिल्म जिसने एक तीर से किये दो निशाने

बॉलीवुड मूवी को लेकर अक्सर हमारी शिकायत होती है कि ये दर्शकों को अंत तक बांधकर नहीं रख पाती है। अधिकतर बॉलीवुड की फिल्मों को एक अच्छी और मजबूत कहानी से ज्यादा मनोरंजन को ध्यान में रखकर बनाया जाता है। हालांकि, कोई एजेंट के कार्यों से अनजान नहीं है, फिर भी नीरज पांडे की फिल्म […]

वीरे दी वेडिंग ट्रेलर: छद्म-नारीवाद, बनावटी आधुनिकता और पुरुष-घृणा का भौंडा प्रदर्शन

काफी हो हल्ले के बाद आखिरकार नारीवादी फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ का ट्रेलर यूट्यूब पर रिलीज़ हो गया है। फिल्म खूबसूरत के निर्देशक शशांक घोष द्वारा निर्देशित फिल्म चार लड़कियों की कहानी है, जिनकी लाइफ में तब बड़ा मोड़ आता है जब चारों दोस्तों में से एक को शादी का प्रस्ताव मिलता है।   सोशलाइट्स से […]

फिल्म ‘अक्टूबर’ की सटीक समीक्षा पढ़िए

ऐसी फिल्म हम बहुत कम ही देखतें हैं जिसकी अपनी खामियां हो और तब भी सामान्य फिल्मों के मुकाबले कहीं ज्यादा बेहतर लगती है। किसी भी व्यक्ति से वास्तविकता से जुड़ी फिल्म को पूरे समय तक देखने के लिए अपनी सीट पर बैठा रहे। लेकिन शूजित सरकार ने अपनी नयी फिल्म ‘अक्टूबर’ में जनता को […]

फिल्म रिव्यु: कहानी वही पुरानी लेकिन दिखा रानी मुखर्जी का दमदार अभिनय   

मैंने यूट्यूब पर फिल्मों के सर्च के दौरान अमेरिका के हॉलमार्क टीवी फिल्म की ‘फ़्रंट ऑफ़ द क्लास’ को देखा था। एक समय था जब नेटफ्लिक्स इंडिया और अमेज़न प्राइम सब्सक्रिप्शन का कोई अस्तित्व नहीं था। तब टॉरेट सिंड्रोम नामक इस शब्द ने मुझमे उत्सुकता पैदा की जिसके बाद मैंने इंटरनेट इस सिंड्रोम के बारे […]

शबाना आज़मी के प्रपंच को ध्वस्त करने के लिए कंगना राणावत को बधाई देनी चाहिए

पद्मावती, जब से यह फिल्म लोगों के संज्ञान में आई है, तभी से इस फिल्म को कई बड़े और भंयकर विरोध प्रदर्शनों का सामना करना पड़ रहा है। इस फिल्म का सबसे अधिक विरोध विशेष रुप से राजपूतों द्वारा किया जा रहा है, क्योंकि राजपूतों ने यह दावा किया कि इस फिल्म में एक ऐसे […]

भारत में तो सदियों से युद्ध होते रहे हैं परन्तु जौहर प्रथा इस कारण से इतने बाद आई

हाल ही में पद्मावती फ़िल्म को लेकर कई विवाद सामने आये हैं। फ़िल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली जहाँ पहले भी विवादित रहे हैं तो उनकी भूमिका संदेहास्पद ही लगती है। कथित तौर पर फ़िल्म में रानी पद्मिनी से जुड़े इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गई है। वहीं फ़िल्म में दर्शाएं गए “घूमर” गाने में रानी […]

भंसाली निर्देशित पद्मावती का ‘घूमर’ गीत बेहूदा, दोषपूर्ण, आपत्तिजनक, घटिया और घिनौना है

ऐसा लगता है कि संजय लीला भंसाली का मन केवल फिल्म बाजीराव मस्तानी में पेशवा रानी पर दर्शाए गए अश्लील नृत्य गीत को बनाने से नहीं भरा है, कि अब भंसाली ने पद्मावती नामक एक इतिहास का मान-मर्दन  करने वाली फिल्म में राजपूत रानी पद्मावती के उपर एक भौंडा गाना घूमर (घूमर जैसा कुछ है […]

पुरुषों को ही हमेशा दोषी समझा जाता है, ऋतिक रोशन का करारा जवाब

कथित तौर पर प्रेमी जोड़े ऋतिक रोशन और कंगना रनौत के बीच कहानी में यह बिल्कुल ही नया अध्याय जुड़ा है। अब तक कंगना रनौत मुखर होकर कहने वाली एकमात्र व्यक्ति थी और उन्होंने उस दौर की बात की जब उन्हें फ़िल्म इंडस्ट्री के बारे में अधिक जानकारी नहीं थी और उनका इस्तेमाल किया गया। […]

नारीवादी प्रियंका चोपड़ा अचानक से संस्कृति प्रेमी हो गयी हैं, और हम इनके ढोंग से चकित हैं

बॉलीवुड में कई हिट फिल्मों के साथ साथ हॉलीवुड में क्वांटिको और बेवॉच में अपने अभिनय कौशल के जरिये प्रियंका चोपड़ा ने हमेशा सुर्खियां बटोरी। वह निःसंदेह एक अच्छी अभिनेत्री है, लेकिन जब बात ढोंगियों की आती है तब वह अपने बॉलीवुड समकक्षों से बिल्कुल भी अलग नहीं है। जब हम सोचते हैं कि उन्होंने […]

बाकी रिव्यु पढ़ लिए? अब पढ़िए इन्दु सरकार सरकार फिल्म की निष्पक्ष समीक्षा

बाधाओं के एक सागर को लांघने के बाद आखिरकार प्रसिद्ध फ़िल्मकार मधुर भंडारकर की भारतीय आपातकाल पर बनी फिल्म इन्दु सरकार कुछ ही दिन पहले सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई। तानाशाही काँग्रेस पार्टी, जिनके लिए इस फिल्म के बारे में सोचना तक तौहीन था, से लेकर अति सक्रिय सेंसर बोर्ड, जिनहोने इस फिल्म में फर्जी के […]

कंगना का सैफ अली खान को जवाब पढ़ा क्या? धो डाला!

फिल्म निर्देशक करन जौहर और अभिनेता सैफ अली खान, जो न्यू यॉर्क में आईफा अवार्ड्स की मेजबानी कर रहे थे, ने करन के शो ‘कॉफी विथ करन सीज़न 5’ के एक एपिसोड के बारे में बात की, जहां राष्ट्रीय फिल्म पुरुसकर एवं फिल्मफेयर पुरस्कार विजेता कंगना रनौट ने इन्हे ‘वंशवाद का ध्वजवाहक’ की उपाधि दी […]
Page 1 of 3123 »

अर्थव्यवस्था

इतिहास

संस्कृति