मत

विश्लेषण

श्रेणी: अंतरराष्ट्रीय

पीएम मोदी के दबाव ने ट्रूडो को खालिस्तान के खिलाफ कदम उठाने के लिए किया मजबूर

कनाडा में पर्याप्त सिख जनसंख्या है। सिख कनाडाई राजनीति में अहम भूमिका निभाते हैं लेकिन प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की अध्यक्षता में आज की कनाडाई लेबर सरकार में समस्या बढ़ रही है। ट्रूडो पर धार्मिक उग्रवाद का पक्ष लेने का आरोप लगाया गया है। वो बार-बार धार्मिक अतिवाद के प्रचारकों पर कार्रवाई करने की अपनी प्रतिबद्धता […]

पीएम मोदी की यूके की सफल यात्रा को बर्बाद करने में नाकामयाब रहे खालिस्तानी और पाकिस्तानी प्रदर्शनकारी

पीएम मोदी की ब्रिटेन यात्रा के दौरान खालिस्तान और पाकिस्तानी समूहों ने रैली निकाली थी और प्रदर्शन के दौरान पार्लियामेंट स्क्वायर में लगे भारतीय झंडे को नीचे उतारकर फाड़ दिया था जिसके बाद ब्रिटेन के अधिकारीयों ने भारतीय समकक्षों से माफी मांगी है। भारत में हुए दुष्कर्म की घटनाओं और कश्मीर में हिंसा के खिलाफ […]

अफगानिस्तान के साथ संघर्ष में 5 पाकिस्तानी सैनिकों की मौत

रविवार को हुई अफगानिस्तान-पाकिस्तान बोर्डर पर दोनों देशों की भिडंत में पाक सेना के पांच जवानों की मौत हो गयी, ये पाक सेना 2500 किलोमीटर लंबी पहाड़ी सीमा क्षेत्र में घुसने का प्रयास कर रही थीं। अफगान अधिकारियों ने दावा किया है कि, पाक सैनिक अफगान क्षेत्र में घुस आये थे, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई […]

प्रधानमंत्री ओली के चीन की ओर झुकाव पर भारत ने अपनाया कड़ा रुख

नेपाल के पीएम के.पी. शर्मा ओली की 3 दिवसीय भारत यात्रा 6 अप्रैल से शुरू हो गयी। नेपाल के पीएम ओली की 3 सालों के लम्बे अन्तराल के बाद इस महत्वपूर्ण भारत यात्रा पर चीन की नजर बनी हुई है। यात्रा के दौरान कई संतुलन कार्य और राजनयिक औपचारिकताएं पर चर्चा होगी। वैसे इस यात्रा […]

क्या पाकिस्तान एक चीनी कॉलोनी में बदल रहा है?

चीन अपने लालच और नए बाज़ारों की भूख को कभी नहीं स्वीकारता। वो बाज़ार जो अक्सर चीनी कंपनियां अपनी कम गुणवत्ता के उत्पादों को बेचने के लिए उपयोग करती हैं। ऐसे में प्राचीन काल के उपनिवेशवादियों और आधुनिक चीनी नीतियों के बीच में बहुत कम अंतर नजर आता है। आज मुफ्त व्यापार का ढोंग करने […]

दुबई के डिप्टी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल ने पाकिस्तान को लताड़ा, कहा, ‘ड्रग व्यापारी’

आतंकियों की जन्मभूमि और अन्य आतंक की गतिविधियों के देश पाकिस्तान के खिलाफ भारत सरकार अक्सर ही आवाज उठाती आयी है। ये आवाज अक्सर दक्षिण दुनिया में अनसुनी रह जाती थी। ये स्थति तब बहुत तेजी से बदली जब डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के राष्ट्रपति बने। 2018 के फरवरी महीने में पेरिस में फाइनेंशियल एक्शन टास्क […]

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की अमेरिकी एयरपोर्ट पर हुई तलाशी

पाकिस्तान के लिए एक और शर्मिंदा कर देने वाले वाकये में देश के प्रधानमंत्री शाहिद ख़ाकान अब्बासी को एक आम व्यक्ति की तरह अमेरिका के जॉन एफ कैनेडी एयरपोर्ट पर कड़ी सुरक्षा से गुजरना पड़ा। ये घटना पिछले सप्ताह की है जोकि एक वीडियो के वायरल होने के बाद सामने आई है। यह खबर पाकिस्तानी […]

भारत बना वासेनार व्यवस्था का ४२वां सदस्य

पिछले वर्ष मिसाइल टेक्नोलॉजी कण्ट्रोल रिजीम में सफल प्रवेश के बाद, मोदी सरकार को अब एक और गौरव प्राप्त हुआ है, मोदी सरकार ने सफलतापूर्वक भारत को वासेनार अरेंजमेंट नामक एक आर्म्स एक्सपोर्ट कण्ट्रोल रिजीम में शामिल करवाया है, जो परंपरागत हथियारों और दोहरी उपयोग प्रौद्योगिकियों के व्यापार की देखभाल करता है। ७ दिसंबर को […]

शुरू हो चुकी है समुद्र में चीन की घेराबंदी

सिंगापुर के रक्षा मंत्री Ng Eng Hen ने अपनी हालिया यात्रा के दौरान, महत्वपूर्ण समुद्री रास्तों की सुरक्षा को लेकर दोनों देशों के बीच गहरे रक्षा संबंधों को दर्शाते हुए, भारत और सिंगापुर ने द्विपक्षीय नौसैनिक सहयोग पर दस्तावेजों का आदान-प्रदान किया। इस समझौते में निम्नलिखित सहित कई क्षेत्रों को शामिल किया गया है: समुद्री […]

द हेग में भारत के कूटनैतिक प्रहार ने ब्रिटेन की कमर तोड़ दी

‘करवटें बदलते रहे – सारी रात हम’ – अपनी कब्र में चर्चिल यह हिंदी गाना गाते हुए असुखद करवटें बदल रहे होंगे। अगर वह ब्रिटेन की यह हालत देखने के लिए जीवित होते तो वह खुद ताबूत में घुस कर उसे मजबूती से बंद कर लेते। आखिरकार उनकी भविष्यवाणियों के विपरीत, यहाँ एक भारतीय सरकार […]

अमेरिका की देखा-देखी भारत में हो रहा यह बदलाव, एक दिन हमें कहीं का नहीं छोड़ेगा

आज विश्व में अमेरिका की हेजेमनी है। हेजेमनी यानी दादागिरी। इस बात में किसी को कोई संदेह नहीं है। अमेरिका सॉफ्ट पॉवर, हार्ड पॉवर और स्ट्रक्चरल पॉवर में पूरे विश्व में सबसे आगे है। हार्ड पॉवर अर्थात सामरिक (सैन्य) ताकत। अमेरिका सैन्य ताकत में विश्व में पहले पायदान पर है। अमेरिकी हथियारों का जखीरा इतना […]

ट्रम्प क्या फिर से बन पायेंगे राष्ट्रपति? अमेरिका के वोटरों ने जवाब दे दिया है

एक साल पहले २०१६ में ट्रम्प ने राष्ट्रपति पद की दौड़ में जीत हासिल की थी, लेकिन उनके शासन प्रबंध पर एक के बाद एक घोटाले के आरोप लगे हैं। राष्ट्रपति ने ट्रांस – प्रशांत साझेदारी संधि (टीपीपी) से अमेरिका को हटा दिया, लेकिन इसे किसी अन्य के साथ प्रतिस्थापित नहीं किया। प्रशासन, कई मौकों […]
Page 1 of 3123 »

अर्थव्यवस्था

इतिहास

संस्कृति